जो बिडेन भारत के खिलाफ प्रतिबंधों पर ‘निर्णय’ लेंगे: द ट्रिब्यून इंडिया


ट्रिब्यून न्यूज सर्विस

अजय बनर्जी

नई दिल्ली, 3 मार्च

अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने चौंकाने वाला दावा किया है कि भारत ने हाल ही में रूसी सैन्य उपकरणों के कई ऑर्डर रद्द कर दिए हैं।

दक्षिण और मध्य एशिया के सहायक विदेश मंत्री डोनाल्ड लू ने बुधवार को सीनेट की विदेश संबंध उपसमिति के सदस्यों से कहा कि भारत अमेरिका के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण भागीदार है और यह राष्ट्रपति बिडेन को तय करना है कि भारत पर प्रतिबंध लागू करना है या नहीं।

रूसी हथियार

भारत ने पिछले कुछ हफ्तों में मिग-29 (लड़ाकू जेट), रूसी हेलीकॉप्टर और टैंक रोधी हथियारों के ऑर्डर रद्द कर दिए हैं। —डोनाल्ड लू, अमेरिकी अधिकारी

सीनेट कमेटी ने लू से पूछा कि क्या काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सेंक्शंस एक्ट (सीएएटीएसए) भारत को रूस से एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली की खरीद के लिए प्रेरित करेगा। लू ने कहा, “दुर्भाग्य से मैं यह नहीं कह पा रहा हूं कि राष्ट्रपति के फैसलों को छूट के मुद्दे पर या प्रतिबंधों के मुद्दे पर, या यूक्रेन पर रूस के आक्रमण का असर उस फैसले पर पड़ेगा।”

लू ने कहा कि बाइडेन प्रशासन ने अभी तक CAATSA के तहत भारत पर प्रतिबंध लगाने पर फैसला नहीं किया है। लू ने कहा, “भारत ने पिछले कुछ हफ्तों में मिग-29 (लड़ाकू जेट), रूसी हेलीकॉप्टर और टैंक रोधी हथियारों के ऑर्डर रद्द कर दिए हैं।”

भारतीय रक्षा मंत्रालय से इस दावे की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो सकी है।

लू ने कहा कि 2011 के बाद से रूस से भारत का आयात 53 फीसदी कम हो गया है, जबकि अमेरिका से खरीदारी बढ़ी है।

सीनेट की विदेश संबंध उपसमिति के अध्यक्ष सीनेटर क्रिस मर्फी ने कहा, “अमेरिका-भारत संबंध कभी मजबूत नहीं रहे, और अमेरिका हमारी बढ़ती दोस्ती के लिए भारत के लोगों और पीएम मोदी का आभारी है।”

#जो बिडेन

.

Leave a Comment