ताजा खबर | एम्स जोधपुर, माइक्रोसॉफ्ट इंडिया ने ‘मिश्रित रियलिटी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस’ स्थापित करने के लिए सहयोग किया

नयी दिल्ली, 13 मई (भाषा) अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, जोधपुर ने शुक्रवार को देश में स्वास्थ्य शिक्षा और सेवाओं को बदलने के लिए ‘मिक्स्ड रियलिटी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस’ स्थापित करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के साथ साझेदारी की घोषणा की।

एक बयान के अनुसार, दोनों संगठन एम्स (अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान), जोधपुर में एक मिश्रित वास्तविकता केंद्र की स्थापना करेंगे, जो चिकित्सा देखभाल प्रदान करेगा, मजबूत दूरस्थ स्वास्थ्य देखभाल क्षमताओं का निर्माण करेगा और कर्मचारियों और छात्रों के लिए सीखने के अवसरों की सुविधा प्रदान करेगा।

यह भी पढ़ें | एसएससी दिल्ली पुलिस भर्ती 2022: हेड कांस्टेबल पद के लिए आवेदन 17 मई से ssc.nic.in पर शुरू होगा; यहां विवरण जांचें।

इस सहयोग के साथ, एम्स जोधपुर मिश्रित वास्तविकता – वास्तविक और आभासी दुनिया के संयोजन की तकनीक का उपयोग करके मेडिकल छात्रों के लिए सीखने के बेहतर अवसर प्रदान करने के लिए एक मिश्रित वास्तविकता हेल्थकेयर लैब स्थापित करेगा।

इस पहल का उद्देश्य डिजिटल नवाचार और स्वास्थ्य सेवाओं, चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान में सहयोग करना है।

यह भी पढ़ें | मौसम पूर्वानुमान: दक्षिण पश्चिम मॉनसून के 27 मई को केरल में दस्तक देने की संभावना, आईएमडी का कहना है।

बयान में कहा गया है, “संयुक्त पहल अभिनव और उन्नत प्रौद्योगिकी प्लेटफार्मों का उपयोग करके भारत में विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सेवाओं की अंतिम-मील डिलीवरी को बदलने के लिए सरकार की चल रही प्रतिबद्धता का विस्तार है।”

इसमें कहा गया है, “एम्स जोधपुर जोधपुर के पास सिरोही जिले में मिश्रित वास्तविकता-सक्षम दूरस्थ स्वास्थ्य सेवाओं का भी संचालन करेगा, ताकि कम सेवा वाले स्थानों पर स्वास्थ्य सेवाओं की डिलीवरी को मजबूत किया जा सके।”

(यह सिंडिकेटेड न्यूज फीड से एक असंपादित और ऑटो-जेनरेटेड कहानी है, नवीनतम स्टाफ ने सामग्री को संशोधित या संपादित नहीं किया हो सकता है)

Leave a Comment