मलेरिया से ठीक होने पर क्या खाएं?

विश्व मलेरिया दिवस हर साल 25 अप्रैल को मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इस बीमारी के बारे में जागरूकता बढ़ाने की अपनी पहल के तहत 2007 में विश्व मलेरिया दिवस घोषित किया था। यह रोग मनुष्यों में संक्रमित मादा एनोफिलीज मच्छर के काटने से फैलता है।

एक इलाज योग्य बीमारी होने के बावजूद, मलेरिया दुनिया भर के समुदायों के बीच एक घातक बीमारी रही है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, अकेले 2020 में, मलेरिया के अनुमानित 241 मिलियन मामले और 85 देशों में 627,000 मलेरिया से संबंधित मौतें हुईं। मलेरिया विशेष रूप से अफ्रीकी देशों और भारतीय उपमहाद्वीप में विनाशकारी रहा है।

मलेरिया से पीड़ित होने पर यह जानना बहुत जरूरी है कि कौन से आहार का पालन करना चाहिए। एक स्वस्थ आहार और कुछ खाद्य पदार्थों पर प्रतिबंध तेजी से ठीक होने में मदद कर सकता है। दिल्ली के कैलाश अस्पताल की सीनियर डायटीशियन हिमांशी शर्मा के मुताबिक मलेरिया से उबरने के लिए संतुलित आहार जरूरी है। वह कहती हैं कि यदि आपका आहार पोषक तत्वों से भरपूर है और स्वस्थ भोजन के विकल्प हैं, तो आपके पास बीमारी से पूरी तरह से ठीक होने की अधिक संभावना होगी।

आहार में निम्नलिखित खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए।

मलेरिया से ठीक होने पर पपीता, अंगूर, जामुन, संतरा, कीवी, खरबूजा और अनानास जैसे फलों का सेवन करना चाहिए। ये फल विटामिन सी से भरपूर होते हैं और ये आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करते हैं, जिससे शरीर को बीमारी से लड़ने में मदद मिलती है।

मलेरिया से ठीक होने वाले व्यक्ति को हाइड्रेटेड रहना चाहिए। हाइड्रेटेड रहने के लिए नारियल पानी, गन्ने का रस और अनार का रस लिया जा सकता है। मलेरिया के इलाज के लिए हाइड्रेटेड रहना जरूरी है।

सूप और सब्जियों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। टमाटर और गाजर का सूप, ब्रोकली शोरबा और तुलसी का सूप लिया जा सकता है।

मसूर दाल, मूंग दाल, उड़द की दाल और छोले जैसी दालें प्रोटीन के बेहतरीन स्रोत हैं और मलेरिया से उबरने के दौरान इनका सेवन करना चाहिए।
मलेरिया में क्या नहीं खाना चाहिए?

हिमांशी शर्मा का कहना है कि तली-भुनी चीजों से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे जी मिचलाना, उल्टी और गैस्ट्रिक की समस्या हो सकती है। डिब्बाबंद और प्रसंस्कृत भोजन से भी हर कीमत पर बचना चाहिए। रोगी को घर का बना सादा खाना ही देना चाहिए। यह सुनिश्चित करने के लिए विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए कि रोगी का भोजन बहुत अधिक तैलीय या मसालेदार न हो।

मलेरिया से उबरने के दौरान कॉफी जैसे कैफीन आधारित पेय से भी बचना चाहिए।

सभी नवीनतम समाचार, ब्रेकिंग न्यूज और आईपीएल 2022 लाइव अपडेट यहां पढ़ें।

.

Leave a Comment